• बुधवार, दिसम्बर 11, 2019
:: उच्चतर शिक्षा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा शिक्षक और शिक्षण पर पंडित मदन मोहन मालवीय राष्ट्रीय मिशन की योजना के अंतर्गत शिक्षक शिक्षण केन्द्र के लिए विद्यापीठ के शिक्षाशास्त्र विभाग को स्वीकृति प्रदान की है |
खोज
खोज :
स्टाफ लोग इन
 
सूची
 
  विद्यापीठ
शैक्षणिक
सुविधाएँ
ई-संसाधन
ई-शिक्षण
दृश्यावली
पूर्व स्नातक
परीक्षा परिणाम
विद्यापीठ समाचार पत्रिका

 
नवीन सूचनाएँ
विद्यापीठ में "तकनीकी विशेषज्ञ" के रूप में जीवन जोशी की सेवाओं के विस्तार के संबंध में कार्यालय आदेश   
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
समयावधि 01.11.2018 से 29.11.2018 तक : विद्यावारिधि(पीएच.डी) डिग्री से सम्मानित किया जाने वाले छात्रों की सूची के बारे में अधिसूचना   
डाउनलोड: अधिसूचना
विद्यावारिधि तथा विशिष्टाचार्य के लिए समीक्षा तथा संशोधन बैठक के संबंध में कार्यालय आदेश   
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए योग के नियमित और अंशकालिक पाठ्यक्रमों की सत्रीय परीक्षाओं के संबंध में सूचना   
डाउनलोड: सूचना
मैसर्स लकी टेक्नोलॉजी के कार्यरत के संबंध में परिपत्र
डाउनलोड: परिपत्र
शोधोपाधि समिति की 22वीं बैठक के संबंध में कार्यालय आदेश
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
“आधुनिक न्याय प्रणाली एवम भारतीय शास्त्र परंपराओं” पर आयोजित व्याख्यान माला के संबंध में कार्यालय आदेश
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
“जैन दर्शन और आधुनिक जीवन शैली” पर आयोजित व्याख्यान माला के संबंध में कार्यालय आदेश
डाउनलोड: कार्यालय आदेश
नवंबर / दिसंबर सत्रीय परीक्षा 2019 के लिए कर्तव्यों के संबंध में सूचना
डाउनलोड: सूचना
विद्यापीठ में मलेरिया और डेंगू की रोकथाम के लिए एहतियाती उपायों के बारे में परिपत्र
डाउनलोड: परिपत्र
 
 
नवीनतम कार्यक्रम

संस्कृत पत्रकारिता एडवांस डिप्लोमा कोर्स

श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विद्यापीठ और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन(आईआईएमसी)के सयुंक्त तत्वाधान में संस्कृत पत्रकारिता में ३ महीने का एडवांस कोर्स शुरू किया | इसका उद्घाटन समारोह दिनांक १६/०१२०१८ को माननीय कुलपति प्रो.रमेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता में हुआ | कोर्स की संयोजिका प्रो. कमला भारद्वाज ने बताया कि कोर्स की विशेषता यह है कि स्टूडेंट्स को दोनों संसथाओ के शिक्षकों का अनुभव प्राप्त करने का अवसर मिलेगा |मुख्य अतिथि अनिल कुमार सक्सेना ने संस्कृत भाषा की विशेषता बताते हुए पत्रकारिता के छेत्र में इंग्लिश और कंप्यूटर के साथ संस्कृत की आवश्यता पर जोर दिया| आईआईएमसी के डायरेक्टर जनरल डॉ. के. जी. सुरेश ने संस्कृत पत्रकारिता के आने वाले स्वरुप पर अपने विचार रखे| मौके पर डॉ. कन्तारानी भाटिया, अध्यक्षा दिल्ली संस्कृत अकादमी, पार्थसारथी थपलियाल, डॉ.ऋतु राजपूत और विनोद मल्होत्रा भी मौजूद थे|

Click on the image to Enlarge

Image 1 

Click on the image to Enlarge

Image 2 

Click on the image to Enlarge

Image 4 


 
 
 
  2006 सर्वाधिकार सुरक्षित संस्कृत विद्यापीठ , नई दिल्ली , सम्मति  :वेबमास्टर डिस्क्लेमर         अच्छा प्रदर्शन : 800X600
कम्प्यूटर केन्द्र द्वारा अनुरक्षित-एस एल बी एस आर एस वी , नई दिल्ली, ११००१६